Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

CG Assembly:किसानों के मुद्दे पर हंगामा,वेल में पहुंचने पर 18 विधायक निलंबित

CG Assembly

रायपुर– छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र के तीसरे दिन विपक्षी दलों ने किसानों के मुद्दे पर सरकार को घेरा।किसानों को बीज, खाद एवं बिजली नहीं मिलने का आरोप लगाते हुए भाजपा,जकांछ और बसपा विधायकों ने स्थगन के माध्यम से चर्चा की मांग की। विधानसभा अध्यक्ष ने जब चर्चा को अग्राह्य कर दिया,तो विपक्षी विधायक गर्भगृह में पहुंचकर नारेबाजी करने लगे।

सभापति सत्यनारायण शर्मा ने 18 विधायकों को निलंबित कर दिया।हंगामे के बीच सत्ता पक्ष ने चार विधेयक पेश किया और सदन की कार्यवाही गुस्र्वार तक के लिए स्थगित कर दी गई।इसके बाद विधानसभा परिसर स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने विधायकों ने धरना प्रदर्शन किया।

शून्यकाल में विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा कि किसानों को इस समय न ऋण मिल रहा है, न बिजली।अघोषित बिजली कटौती के कारण खेती का काम प्रभावित हो रहा है।इस पर हमने स्थगन प्रस्ताव दिया है, ग्राह्य कर चर्चा कराएं।

मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि स्थगन में अलग-अलग विभाग से जुड़े मुद्दे हैं, इसलिए चर्चा संभव नहीं है।धरमलाल कौशिक ने कहा कि किसानों को विभाग से न जोड़े,किसानों पर समग्र चर्चा होनी चाहिए।नारायण चंदेल ने कहा कि एक तरफ वर्षा नहीं हो रही,वहीं किसानों को खाद बीज नहीं मिल रहा।जशपुर जिले के चराईडाई क्षेत्र के किसान मोहन निराला ने आत्महत्या कर ली।

अजीत जोगी ने कहा कि किसानों को बीज नहीं दे पा रहे हैं तो कम से कम खाद मिले। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा कि किसान आज दोतरफा मार झेल रहा है।मानसून साथ नहीं दे रहा। 65 प्रतिशत किसानों का ही कर्ज माफ हो पाया है।इस पर सदन में लंबी चर्चा कराई जानी चाहिए। 

आठ महीने में पाप का घड़ा भरा,रूठे इंद्रदेव

भाजपा के अजय चंद्राकर ने कहा कि आठ महीने में सरकार के पाप का घड़ा भर गया।छत्तीसगढ़ से इंद्र देव की कृपा रूठ गई।बाहर से महंगे बीज मंगाने का षड़यंत्र रचा जा रहा है।इसका कांग्रेस विधायक बृहस्पति सिंह ने विरोध किया।धर्मजीत सिंह ने कहा कि सबसे ज्यादा किसानों द्वारा आत्महत्या करने की घटनाएं छत्तीसगढ़ में हो रही हैं। 

मानसून सत्र में किसानों पर चर्चा नहीं, तो कब करेंगे

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि मानसून सत्र किसानों को समर्पित हो। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि मंत्री मोहम्मद अकबर कहते हैं,सदन में सभी मंत्रियों की संयुक्त जिम्मेदारी होती है,वहीं किसानों की बात आने पर कृषि मंत्री रविंद्र चौबे इसे सहकारिता मंत्री से जुड़ा मामला बता देते हैं। किसानों पर मानसून सत्र में चर्चा नहीं होगी,तो कब होगी।

एजी की नियुक्ति पर हंगामा, कार्यवाही स्थगित

महाअधिवक्ता की नियुक्ति को लेकर विधायक अजय चंद्राकर ने सरकार को घेरा।चंद्राकर ने कहा कि एजी कहते हैं कि इस्तीफा नहीं दिया,मुख्यमंत्री कहते हैं कि इस्तीफा स्वीकार कर लिया,विधि मंत्री कहते हैं कि काम से अनिच्छा जाहिर की।

शिवरतन ने कहा कि एजी का कार्यकाल राज्यपाल के प्रसाद पर्यान्त होता है।अध्यक्ष ने प्रस्ताव को अग्राह्य कर दिया,तो भाजपा विधायकों ने हंमागा शुरू कर दिया।शोर-शराबे के बीच सदन की कार्यवाही को दस मिनट के लिए स्थगित करना पड़ा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.