चाह सेवा की और जुनून कुछ कर दिखाने का,इसी के सहारे काजल ने तय किया सफ़र क़ामयाबी का

mynews36.com
mynews36.com

रायपुर- क़ामयाबी के लिए जुनून और जज़्बा हो,तो हर मुश्किल अपने आप आसान हो जाती है।9वीं में कम नंबर आए,तो पापा ने बड़े प्यार से समझाया,बस फ़िर क्या था!जुनून के सहारे काजल लग गई मेहनत करने में।आज जब CBSE बोर्ड 12वीं का परिणाम आया तो काजल की ख़ुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा,क्योंकि उसके जुनून ने उसे क़ामयाबी की वो सीढ़ी चढा दी,जिसका सपना हर छात्र देखता है।अपनी लगन और मेहनत से काजल ने 90% अंक लाकर न सिर्फ़ परिवार को गौरवान्वित किया है,बल्कि अपने हौसलों को भी पंख लगाए हैं।काजल साहू की इस कामयाबी पर उनके पापा-विष्णु साहू,उनकी माँ-मनीषा साहू बहुत ख़ुश हैं।साथ ही समाज के लोगों के साथ सबका आशीर्वाद काजल को मिल रहा है।ऐसी होनहार बेटी से साक्षात्कार किया है- Mynews36.com ने।ये हैं उनसे बातचीत के प्रमुख अंश-

mynews36.com
mynews36.com

सवाल- 12वीं बोर्ड की तैयारी कब से शुरू की ?

जवाब-यूं तो तैयारी 11वीं की परीक्षा होने के बाद से ही शुरू कर दी थी,लेकिन जब पापा ने कुछ अलग करने को कहा तो ये बात मेरे मन को भा गई और मैं जी तोड़ मेहनत से 12वीं की तैयारी करने लगी।

सवाल- कितने घंटे पढ़ाई की?

जवाब- ज़्यादातर पढ़ाई स्कूल में ही हो जाया करती थी और टीचर्स भी काफी प्रोत्साहित करते थे।घर पर आकर सिर्फ़ ध्यान देना होता था।वैसे 6-7 घंटे ही पढ़ती थी।

सवाल- पढ़ाई के लिए क्या ख़ास तैयारी करती थी?

जवाब- शेड्यूल बनाकर पढ़ाई करने से कम दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।मैं सिर्फ़ टाइम टेबल बनाकर उसको फॉलो करती थी।रट्टा मारने की जगह बेसिक्स पर ध्यान देती थी।

सवाल- इतनी बड़ी कामयाबी मिली तो कैसा महसूस कर रहीं हैं?

जवाब- बहुत अच्छा लग रहा हैं।कभी सोची नहीं थी कि-इतनी बड़ी कामयाबी मिलेगी।पापा की समझाईश,माँ और दादी के साथ के अलावा बहन के प्यार,टीचर्स का आशीर्वाद और दोस्तों का मार्गदर्शन मिलने से परेशानियों का पता ही नहीं चला।

सवाल- पढ़ाई के दौरान इंटरनेट का सहारा लेतीं थीं?

जवाब- जब कभी कुछ समझना होता था तो इंटरनेट पर जानकारी देखा और सुना करती थी।बहन बार-बार टोकती भी थी लेकिन,हमेशा प्रोत्साहित करती थी।वैसे मैं इंटरनेट का इस्तेमाल बहुत कम करती थी।

सवाल- आप क्या बनना चाहती हैं?

जवाब-बचपन से ही सपना है-कोई ऐसा काम करूँ जिसमें सेवा करने के साथ-साथ इज़्ज़त और पैसा भी मिले इसलिए डॉक्टर बनना चाहती हूँ ताकि माँ-पापा का सपना पूरा कर सकूँ और आगे बढ़ती रहूं।

सवाल- पढ़ाई के अलावा और क्या क्या शौक हैं?

जवाब-मुझे ड्राइंग करना,गाने सुनना और घूमना बहुत पसंद हैं।पढ़ाई के दौरान भी इनके लिए समय निकाल लिया करती थी।

सवाल- छात्रों के लिए आप क्या कहना चाहती हैं?

जवाब- बहुत ज़्यादा पढ़ाई करने की बजाय बेसिक्स पर ध्यान देकर,चीज़ों को अच्छी तरह समझकर बड़ी सफलता प्राप्त की जा सकती हैं।लेकिन,जब जुनून और जज़्बा बना रहे।

Summary
0 %
User Rating 4.24 ( 11 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In राजधानी

One Comment

  1. MatKinc

    May 6, 2019 at 3:31 am

    Purchase Viagra In India How Long Does Amoxicillin Rash Stay [url=http://cialiviag.com]cialis cheapest online prices[/url] Propecia Side Effects Stopped

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Xiaomi का यह बजट स्मार्टफोन जल्द ही होगा बंद,फरवरी में ही हुआ है लॉन्च

रायपुर-शाओमी ने भारत में अपना नया स्मार्टफोन रेडमी नोट 7एस लॉन्च कर दिया है।इस फोन में भी …