CBI

नई दिल्ली।एम नागेश्वर राव को सीबीआई के अतिरिक्त निदेशक पद से हटाकर डीजी फायर सर्विस,नागरिक रक्षा और होम गार्ड नियुक्त किया गया है।पहले यह पद सीबीआई के पूर्व निदेशक आलोक वर्मा को दिया गया था लेकिन उन्होंने चार्ज संभालने से इनकार करते हुए पद से इस्तीफा दे दिया था।

ओडिशा कैडर के 1986 बैच के आइपीएस अधिकारी राव दो बार सीबीआई के अंतरिम निदेशक का पद भी संभाल चुके थे।बाद में ऋषि कुमार शुक्ल को इस साल फरवरी में सीबीआई का निदेशक नियुक्त किया गया था।सरकार ने आपसी लड़ाई के बाद सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को लंबी छुट्टी पर भेज दिया था,इसके बाद नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बनाया गया था।

आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना ने एक दूसरे के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे।सीबीआई ने अस्थाना के खिलाफ केस भी दर्ज किया है।नागेश्वर राव ने भी सीबीआई का अंतरिम निदेशक बनते ही 20 अधिकारियों का तबादला कर दिया था।इनमें 2जी घोटाले की जांच करने वाले अधिकारी विवेक प्रियदर्शी भी शामिल थे।

नागेश्वर राव ने बिहार के सनसनीखेज मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड मामले की जांच कर रहे एके शर्मा का भी तबादला कर दिया था।इस पर सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को फटकार लगाते हुए पूछा था कि-जांच अधिकारी शर्मा का तबादला क्यों किया गया? शीर्ष अदालत ने नागेश्वर राव को तलब भी किया था और उनके खिलाफ कोर्ट की अवमानना का नोटिस भी जारी किया था।बाद में नागेश्वर राव ने सुप्रीम कोर्ट से बिना शर्त माफी मांगी थी।उन्होंने कहा था कि-उन्होंने जानबूझ कर अदालत की अवमानना नहीं की थी।

Summary
0 %
User Rating 4.65 ( 1 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In बड़ी ख़बर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Transfer :तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के स्थानांतरण आदेश जारी

जिले में 12 विभागों के कर्मचारियों का हुआ तबादला कांकेर-उत्तर बस्तर कांकेर 16 जुलाई 2019- …