Coronavirus community spread

Coronavirus community spread

Coronavirus community spread

Coronavirus community spread : भारत में कोरोनावायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। हालात ऐसे हैं कि कई राज्‍यों में दोबारा लॉकडाउन की स्थिति बन रही है।देश में हर रोज कोरोनावायरस संक्रमितों की संख्‍या में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है।ऐसे में फिलहाल भारत में COVID-19 संक्रमितों की संख्‍या बढ़कर 10 लाख का आंकड़ा पार कर चुकी है।एक तरफ कोरोनावायरस के मामलों में हर दिन बढोत्‍तरी ने चिंता बढ़ाई हुई है, वहीं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA)के एक बयान ने इस चिंता को और अधिक बढ़ा दिया है।इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA)का कहना है कि भारत में कोरोना अब कोरोनावायरस का कम्युनिटी स्प्रेड (Coronavirus community spread) शुरू हो चुका है।लेकिन अभी स्वास्थ्य मंत्रालय की पुष्टि का इंतजार है।कम्‍युनिटी स्‍प्रेड का सीधा-सीधा अर्थ है कि देश में कोरोना को लेकर स्थिति गंभीर हो सकती है।इतना ही नहीं कई राज्‍यों में दोबारा लॉकडाउन की स्थिति बन रही है।जबकि कुछ राज्‍य दोबारा लॉकडाउन की घोषणा कर चुके हैं।भारत में स्थिति दिन-ब-दिन बदतर होती जा रही है,भारत अब संयुक्त राज्य अमेरिका और ब्राजील के बाद सबसे अधिक प्रभावित देशों में तीसरे नम्‍बर पर आ गया है।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) का बयान

समाचार एजेंसी एएनआई को दिए गए एक बयान में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के अध्‍यक्ष डॉ. वीके मोंगा ने कहा है, ” कोरोनावायरस अब एक तेज और घातक रफ्तार से बढ़ रहा है और हर दिन इससे संक्रमित मामलों की संख्‍या में इजाफा हो रहा है। पिछले कुछ दिनों में हर दिन मामलों की संख्‍या लगभग 30,000 पार कर रही है। अब यह वायरस ग्रामीण क्षेत्रों में भी तेजी से आग की तरह फैल रहा है, जो कि एक बुरा संकेत है। इससे पता चलता है कि भारत में अब कोरोनावायरस का कम्‍युनिटी स्‍प्रेड शुरू हो चुका है।

डॉ. मोंगा ने कहा है कि कोरोनावायरस कस्बों और गांवों तक पहुंचने लगा है और जहां स्थिति को कंट्रोल करना बहुत मुश्किल होगा। दिल्ली या मुंबई जैसे महानगरों में इसे कंट्रोल किया जा रहा है लेकिन महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, गोवा और मध्य प्रदेश के अंदरूनी इलाकों में कोरोनावायरस के नए हॉटस्पॉट बनने की संभावना है। यही वजह है कि राज्‍य सरकारों को अब अर्लट पर रहना होगा और पूरी सावधानी के साथ स्थिति को कंट्रोल करने की निति बनानी होगी

वहीं हाल ही में, केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने अलर्ट दिया है कि ऐसा लग रहा है कि तिरुवनंतपुरम जिले के कुछ तटीय क्षेत्रों में सामुदायिक प्रसार या कम्‍युनिटी स्‍प्रेड के संकेत मिले हैं। इन क्षेत्रों को एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन पर रखा गया है।

मोंगा ने अपने बयान में कहा है कि कोरोनावायरस महामारी से लड़ने के दो ही तरीके हैं। जिसमें पहला तरीका यह है कि 70 फीसदी लोग इस वायरस से संक्रमित हों और उनमें इससे लड़ने की इम्‍युनिटी विकसित हो जाए। दूसरा तरीका है कि जल्‍द से जल्‍द कोरोनावायरस की वैक्‍सीन तैयार हो जाए। यह दो ह तरीके हैं, जो वायरस को रोकने में मदद कर सकते हैं।

इस बीच, आईसीएमआर ने कहा है कि परीक्षण प्रयोगशालाओं को बढ़ाने के साथ परीक्षण सुविधाओं को प्रति दिन परीक्षण बढ़ाने के लिए बेहतर बनाया गया है। MoHFW की पुष्टि यह देखने के लिए प्रतीक्षित है कि क्या IMA की समुदाय प्रसार के बारे में रिपोर्ट सही है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.