Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Chhattisgarh Education : छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम ने बढ़ाई पुस्तकों कीमत

0
Book Price

रायपुर- राज्य सरकार जहां एक ओर चुनावी घोषणा पत्र में 12वीं तक मुफ्त शिक्षा देने का वादा किया है वहीं दूसरी ओर पाठ्यपुस्तक निगम (पापुनि) ने सरकारी किताबों की कीमतों पर इजाफा कर दी है।बता दे कि-निगम ने NCERT पाठ्यक्रम की 11 वीं की पुस्तकों का रेट बढ़ाया है।जो किताबें पाठ्यपुस्तक निगम के डिपों में पहले से उपलब्ध हैं,उन किताबों के पुराने रेट पर नई दर चस्पा करके बेचने का आदेश दिया गया है।

पाठ्यपुस्तक निगम के महाप्रबंधक के हस्ताक्षर से यह आदेश सभी डिपो प्रबंधकों के नाम जारी किया गया है।NCERT द्वारा प्रकाशित पुस्तक कक्षा 11वीं विज्ञानं भाग-1 हिंदी,जो 30 रुपए की है,उसे 54 रुपए में बेचने कहा गया है ।

इसी प्रकार हिंदी आरोह भाग-1 को 65 की जगह 94 रुपए,इग्लिश कोर इग्लिश 50 रुपए वाली 71,स्नेपशाट इग्लिश सप्लीमेंट्री कोर इग्लिश 35 रुपए को 49,संस्कृत भाष्वती प्रथम भाग 55 रुपए की किताब का मूल्य एक रुपये कम किया गया है।

संस्कृत शाष्वली प्रथम भाग 65 रुपए की पुस्तक 67 रुपए में बेचने का आदेश जारी किया गया है।कांग्रेस ने चुनावी घोषणा पत्र में लड़कियों को 12 वीं तक मुफ्त शिक्षा देने का वादा किया है।लेकिन पाठ्य पुस्तक निगम 11वीं की पुस्तकों का रेट बढ़ाकर विद्यार्थियों पर बोझ बढ़ा रहा है।

रायपुर पुस्तक विक्रेता संघ के अध्यक्ष दीपक बल्लेवार ने आरोप लगाया है कि-पाठ्य पुस्तक निगम सरकार की छवि खराब करने में लगा है। सरकार निजी स्कूलों में फीस कम कराने में लगी है,वहीं पाठ्यपुस्तक निगम अपनी पुस्तकों की कीमत में 80 फीसदी तक वृद्धि कर पालकों की जेब में डाका डाल रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.