कोविड-19 के दौरान सेवा देने वाले नर्सिंग स्टाफ के आंदोलन का भाजयुमो ने किया समर्थन

नर्सिंग स्टाफ की लड़ाई में भाजयुमो कंधे से कंधा मिला कर खड़ा रहेगा – भाजयुमो जिलाध्यक्ष नितेश साहू

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर जब अपने पूरे शबाब पर थी ऐसे समय पर अपनी जान की परवाह ना कर अपनी सेवा देने वाले नर्सिंग स्टाफ को नौकरी से कोरोना संक्रमण की रफ्तार कम होने पर सरकार के द्वारा नौकरी से निकाल दिया गया है जिससे अपनी रोजगार की समस्या को लेकर नर्सिंग स्टाफ के द्वारा छत्तीसगढ़ के प्रत्येक जिलों पर धरना देकर अपनी मांग रखी जा रही है आज इसी कड़ी में दुर्ग शहर में गवर्नमेंट स्कूल के सामने धरनारत नर्सिंग स्टाफ के समर्थन में भाजयुमो के पदाधिकारी कार्यकर्ता जिला अध्यक्ष नितेश साहू के साथ पहुंचे और उन्हें अपनी समर्थन की बात कही इस दौरान उनके साथ प्रमुख रूप से आईटी सेल के जिला संयोजक राजा महोबिया पीयूष मालवीय राहुल पाटिल उपस्थित रहे |

इस अवसर पर भाजयुमो जिला अध्यक्ष नितेश साहू ने कहा कि कोविड-19 के दौरान जब प्रत्येक व्यक्ति अपने अपने घरों पर छूपकर रहता था यहां तक की परिवार जनों को भी अगर कोविड- होता था तो घर वाले भी अपने ही परिवार जनों को छोड़ देते थे ऐसी विषम परिस्थितियों में राज्य सरकार के द्वारा कोरोना के प्रथम लहर एवं द्वितीय लहर में अपनी प्राणों की परवाह न करने वाले नर्सिंग स्टाफ राज्य सरकार के द्वारा जब जरूरत थी नौकरी पर रखा गया और अब पूरी तरह से उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया जबकि वे प्रशिक्षित एवं नर्सिंग कोर्स करने वाले युवक युवतियां हैं और अभी जब कोरोना का संक्रमण कम है उन्हें सरकार के द्वारा नौकरी से निकाल दिया गया उनके द्वारा नौकरी में बहाली की मांग को लेकर विगत कुछ दिनों से उन्होंने विभिन्न मंत्रियों से मिलकर अपनी समस्याओं को अवगत कराते हुए नौकरी पर रखने की मांग की गई है इसके बावजूद प्रदेश की असंवेदनशील सरकार के मंत्रियों के कानों में जूं तक नहीं रेंग रही है भारतीय जनता युवा मोर्चा आंदोलनरत नर्सिंग स्टाफ के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़ा है |

आयोजित धरना प्रदर्शन भाजयुमो के दीपक सिन्हा चंद्रकांत साहू बंटी देशमुख भूपेश मोर घोड़े रहे |

Leave A Reply

Your email address will not be published.