Mynews36
!! NEWS THATS MATTER !!

Bike Ambulance :दूरस्थ क्षेत्रों के मरीजों के लिए बाइक एम्बुलेंस बनी वरदान

Bike Ambulance

अंबिकापुर।बलरामपुर जिले के दूरस्थ व पहुंचविहीन इलाकों के लिए बाइक एंबुलेंस वरदान बनी हुई है जहां एंबुलेंस और महतारी एक्सप्रेस नहीं पहुंच पाती वहां से मरीजों को बाइक एंबुलेंस से शासकीय अस्पतालों में लाकर दाखिल कराने में मदद मिल रही है।झमाझम बारिश हो या फिर तपती धूप बाइक एंबुलेंस के चालक सूचना मिलते ही मरीजों के घर तक पहुंच जा रहे हैं इस सुविधा से संस्थागत प्रसव को बढ़ावा दिए जाने में भी मदद मिल रही है।

बलरामपुर जिले का कई इलाका भौगोलिक परिस्थितियों के कारण आज भी पहुंच विहीन बना हुआ है।कठिन भौगोलिक परिस्थितियों के कारण सड़कों का निर्माण नहीं हो पाने से आवागमन में लोगों को दिक्कत होती है।खासकर पाठ क्षेत्रों में एंबुलेंस भी नहीं पहुंच पाती।ऐसे में संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने में भी दिक्कत आ रही थी।बलरामपुर के तत्कालीन कलेक्टर अवनीश शरण ने इस समस्या के निराकरण के लिए बाइक एंबुलेंस आरंभ करने का निर्णय लिया था। उन्हीं के कार्यकाल में 4 बाइक एंबुलेंस का संचालन बलरामपुर जिले में शुरू किया गया था।

बलरामपुर जिले के कुसमी विकासखंड के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जवाहरनगर,सबाग,भुलसीकला व शंकरगढ़ विकासखंड के मनोहरपुर स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को 1-1 बाइक एंबुलेंस उपलब्ध कराए गए थे। यह सभी क्षेत्र पूर्व के वर्षों में नक्सलियों के प्रभाव वाले माने जाते थे। नक्सलियों की गतिविधियां शांत होने के बाद इस क्षेत्र में भी बुनियादी सुविधा विस्तार का काम तेजी से चल रहा है लेकिन कठिन भौगोलिक परिस्थितियों के कारण सुलभ आवागमन की सुविधा वर्षभर उपलब्ध करा पाना आज भी कठिन चुनौती बना हुआ है।उक्त चार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीन कुछ गांव ऐसे भी हैं जहां आज भी एंबुलेंस तथा महतारी एक्सप्रेस नहीं पहुंच पाती।ऐसे में संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने में भी दिक्कत आती थी लेकिन बाइक एंबुलेंस का संचालन शुरू हो जाने से संस्थागत प्रसव के दर में भी वृद्धि हुई है।

पाठ क्षेत्र में भी बाइक एंबुलेंस आसानी से आना जाना कर पा रही है।कुसमी विकासखंड के नक्सल प्रभावित ग्राम जलजली में प्रसव पीड़ा से कराह रही गर्भवती महिला को अस्पताल ले जाने कीआवश्यक्ता की सूचना मंगलवार दोपहर को मिली। उस वक्त क्षेत्र में तेज बारिश हो रही थी लेकिन विपरीत परिस्थितियों की चिंता किए बगैर सवाग प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से बाइक एंबुलेंस को तत्काल जलजली गांव में रवाना किया गया।यहां बसंती नामक महिला को बाइक एंबुलेंस से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सबाग लाया गया,जहां चिकित्सकों ने उसका सामान्य प्रसव कराया। ऐसे ही हर रोज किसी न किसी क्षेत्र से बाइक एंबुलेंस की मांग आती है और संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने में मदद मिल रही है।

बाइक एंबुलेंस से मौसमी बीमारियों से पीड़ित गंभीर लोगों को भी अस्पताल लाने में सहूलियत हो रही है।बलरामपुर जिले के दूरस्थ इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए बाइक एंबुलेंस अब वरदान बन चुकी है। सैकड़ों लोगों को बाइक एंबुलेंस की सुविधा अब तक प्रदान की जा चुकी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.