पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर बड़ी आतंकी साजिश हुआ नाकाम, जम्मू में सात किलो आईईडी बरामद

जम्मू शहर में बस स्टैंड पर सात किलो आईईडी बरामद हुई है। इलाके में जगह-जगह पर सुरक्षाबलों ने नाके लगा दिए हैं। हालांकि बरामद विस्फोटक और उसकी मात्रा को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। सूत्रों के मुताबिक शनिवार देर रात यह विस्फोटक बरामद किया गया। पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर आतंकी बड़े हमले की फिराक में थे।

वहीं जम्मू में आतंकी गतिविधियां तेज होने से सुरक्षा एजेंसियां और भी सतर्क हो गई हैं। लश्कर-ए-मुस्तफा के आतंकी मलिक की गिरफ्तारी, सांबा में सुरंग और हथियारों का मिलना ये दर्शाता है कि कश्मीर में खात्मे की कगार पर आतंकी संगठनों ने अब जम्मू संभाग में साजिशों को तेज कर दिया है।

बता दें कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जम्मू संभाग का सांबा जिला घुसपैठ और हथियार पहुंचाने का सॉफ्ट टारगेट बनता जा रहा है। अंतरराष्ट्रीय सीमा के हाईवे के निकट होने का भी आतंकी लाभ उठा रहे हैं। हालांकि, अनुच्छेद 370 हटने के बाद सेना और पुलिस की सतर्कता से आतंकी वारदात करने में सफल नहीं हो पा रहे हैं। 

सूत्रों का मानना है कि सांबा जिले में अभी भी कई ओवर ग्राउंड वर्कर काम कर रहे हैं जो पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। यह पहला मौका नहीं है जब पुलिस ने बाड़ी ब्राह्मणा से आतंकी को दबोचा है। इससे पहले हीरानगर के रसाना में ड्रोन से हथियार गिराए गए थे। हथियार उठाने वालों को पुलिस ने दबोच लिया था। उन्हें रसाना में उस जगह ले जाया गया था, जहां से उन्होंने हथियार उठाए थे। इसके बाद काजीगुंड में दो लोगों को एक ट्रक से पकड़ा था, उनके कब्जे से हथियार बरामद किए थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.