नई दिल्ली – देश में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अहम समीक्षा बैठक कर रहे हैं। यह ओमिक्रॉन के सामने आने के बाद उनकी दूसरी समीक्षा बैठक है। इससे पहले उन्होंने 28 नवंबर को भी बैठक कर देश में महामारी के हालात की समीक्षा की थी। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार बैठक में कोरोना प्रबंधन से जुड़े सभी उच्च अधिकारी शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय बैठक में ओमिक्रॉन के नए मरीजों, लक्षण और अत्यधिक संक्रामक होने के बारे में जानकारी दे रहा है। बैठक में हालात से निपटने के लिए राज्यों के साथ मिलकर बनाई जा रही योजनाओं पर भी चर्चा होगी। ओमिक्रॉन वैरिएंट के देश में अब तक 300 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 65 मामलों की पुष्टि हुई है। इसके बाद दिल्ली में 64 केस मिले हैं। ओमिक्रॉन संक्रमितों से 104 मरीज ठीक हो चुके हैं।  

तीन गुना तेजी से फैलता है ओमिक्रॉन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को ओमिक्रोन को लेकर सचेत किया है। यह भी बताया कि यह डेल्टा वैरिएंट की तुलना में कम से कम तीन गुना तेजी से फैलता है। इसे लेकर स्थानीय और जिला स्तर पर प्रबंधन का निर्देश दिया गया है। मंत्रालय ने इसके खिलाफ ‘वार रूम’, सक्रिय करने, सक्रिय कदम उठाने और नाइट कर्फ्यू लगाने जैसे कदमों का सुझाव दिया है। 

शादी-अंत्येष्टि में संख्या सीमित करने का भी सुझाव

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों को लिखे पत्र में कहा है कि ओमिक्रॉन के बढ़ते प्रसार को रोकने के लिए सख्त रणनीतिक उपाय किए जाएं। शादी-विवाह और अंतिम संस्कार आदि में संख्या सीमित करने व आपातकालीन केंद्रों को सक्रिय करने की सलाह भी शामिल है। कोविड नमूनों की जीनोम सीक्वेंसिंग कराने भी सलाह दी गई है। 

ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए इस लिंक – https://chat.whatsapp.com/J8M6x3aju1UG3WjGzAlrd3 को क्लिक कर हमारे व्हाट्सप्प ग्रुप से जुड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published.