रायपुर – उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को वरिष्ठ पर्यवेक्षक बनाने के बाद से ही भाजपा नेता निशाना साधा रहे हैं। अब उप्र चुनाव परिणाम को लेकर मुख्यमंत्री बघेल को चुनौती दी गई है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने सवाल किया है कि अगर उप्र चुनाव में 15 सीट से कम पर कांग्रेस की जीत होती है, तो क्या मुख्यमंत्री बघेल इस्तीफा देंगे।

इससे पहले भाजपा ने उत्तर प्रदेश के किसानों को 50-50 लाख रुपये देने पर मुख्यमंत्री को घेरा था। भाजपा की चुनौती पर प्रदेश कांग्रेस संगठन ने पलटवार किया है। कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा के पक्ष में परिणाम नहीं आने पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने इस्तीफा मांगा है। मुख्यमंत्री बघेल पिछले दो दिन से उत्तर प्रदेश के चुनाव अभियान में हैं। वहीं, प्रदेश के नगरीय निकाय चुनाव का गुरुवार को परिणाम आएगा।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि सीएम बघेल ने छत्तीसगढ़ में ऐसा कोई काम किया नहीं किया, जिसे वे बता सकें। कम से कम कुर्सी छोड़कर छत्तीसगढ़ का हित करें। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार के तीन साल पूरे होने पर पार्टी और सरकार की ओर से छत्तीगसढ़ माडल का प्रचार किया जा रहा है। इसमें पिछले तीन साल में भूपेश सरकार के कामकाज को छत्तीसगढ़ माडल के रूप में प्रचारित किया जा रहा है।

साय ने कांग्रेस के छत्तीसगढ़ माडल पर प्रहार करते हुए भाजपा के नजरिए से छत्तीसगढ़ माडल को बताया है। साय ने कहा कि छत्तीसगढ़ आज भूपेश के करप्शन, कमीशन और क्राइम के माडल के रूप में जाना जा रहा है। भूपेश ने छत्तीसगढ़ को माफिया माडल बना दिया हैं। वहीं, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को 15 सीट जीतने की चुनौती देने वाले विष्णुदेव साय क्या छत्तीसगढ़ में 15 नगरीय निकाय में से पांच निकाय जीतने का दावा करेंगे। 15 नगरीय में से पांच निकाय भी भाजपा नहीं जीत पाएगी तो क्या साय भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भी कुर्सी छोड़ेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.