After 12th Education

रायपुर- 12वीं के बाद हर छात्र आगे की पढाई को लेकर काफी चिंतित रहता है,ऐसे में छात्रों के साथ-साथ उनके परिजन भी काफी चिंतित रहते है कि-अब हमारा बच्चा आगे क्या करेगा।इसके साथ ही परिजनों कि पास कई बार बजट की भी दिक्कत होती है।इन सबकों देखते हुए छात्र काफी दिक्कतों का सामना करते है।तो अब आपको चिंता करने की ज़रूरत नहीं है।mynews36.com आपके समस्याओं का पूर्णतः समाधान करने में सक्षम है।ऐसे में आप हमारे वेब पोर्टल में विज़िट करते रहे।तो आइये जानते है आज कि-विषय कि बारे में।

इवेंट मैनेजमेंट मार्केटिंग और एडवरटाइजिंग का मिला जुला रूप है,जो उत्साह और रोमांच से भरपूर है।यह कमाल का फील्ड है।इसमें विजुअलाइजेशन है,क्रिएटिविटी है,प्लानिंग है, वेन्यू मैनेजमेंट है और भरपूर एक्साइटमेंट है।यह नए जमाने का करियर है।सब जानते हैं कि सोशलाइजिंग का ट्रेंड बढ़ रहा है और तमाम इवेंट,इवेंट मैनेजमेंट कंपनियों द्वारा ही मैनेज किए जा रहे हैं।ऐसे में इस फील्ड में करियर बनाना एक अच्छा कदम बन सकता है।विषय से जुडी सारी जानकारियां आपको इस पोस्ट में नीचे मिल जाएगी।हम आपको पढाई से सम्बंधित सारी जानकारियाँ प्रदान करते रहेंगे,साथ ही आपको यह भी बताया जाएगा कि-यह कोर्स कैसा है? आप क्या कर सकते है? क्या नहीं कर सकते? इसके अलावा कहा-कहा कॉलेज है? आपके लिए क्या करना उचित होगा? आपको क्या नौकरी मिल सकती? नहीं मिली तो आप क्या कर सकते है? ऐसे तमाम जानकारियाँ हम आपको मुहैय्या कराते रहेंगे।ऐसे ही ख़बरों से जुड़े रहने कि लिए आप प्ले स्टोर पर जाकर Mynews36 App डाउनलोड कर सकते है।साथ ही हमारे Whats App Group व् Facebook Page पर भी जानकारियाँ प्राप्त कर सकते है। Mynews36.com वेबपोर्टल आपकी उज्जवल भविष्य की कामना करता है।यह खबर आपको पूरा पढ़ने कि बाद कैसा लगा नीचे दिए कमेंट सेक्शन में अपनी प्रतिक्रिया अवश्य दे।साथ ही इसे आगे साझा करें,ताकि सभी का जीवन उज्जवल हो।

नेचर ऑफ वर्क-

इवेंट मैनेजमेंट का काम अलग-अलग तरह के कामों को सही समय पर और पूरी सटीकता के साथ जोड़ना है।जो इस काम को क्लाइंट के मुताबिक दिए गए समय पर और दिए हुए बजट में बिना किसी परेशानी के पूरा करता है वही सफल इवेंट मैनेजर है।इस फील्ड में समय का दबाव हमेशा रहता है,क्वालिटी को लेकर हमेशा खिच-खिच रहती है और सब कुछ ठीक होने के बावजूद कमी निकालने की गुंजाइश बची रहती है। इस काम का नेचर ही ऐसा है कि-पसंद और नापसंद के बीच बड़ी बारीक रेखा होती है।इवेंट के आयोजन से पहले बजट को लेकर,वेन्यू को लेकर, मेन्यू को लेकर,सेलिब्रेटी को लेकर बड़ी आपाधापी मची रहती है।लेकिन यही आपाधापी इस काम का अनिवार्य हिस्सा है,जो काम पूरी होने पर सुकून और पैसा दोनों देती है।

स्किल्स और योग्यता-

इवेंट मैनेजमेंट के काम में अलग-अलग तरह के गुणों की जरूरत होती है और काम करते रहने से उनमें निरंतर सुधार भी होता रहता है।चाहे लीडरशिप क्वालिटी हो,पीआर स्किल हो,मार्केटिंग स्किल हो,बजट बनाने का स्किल हो,रिस्क मैनेजमेंट स्किल हो,ये सारे स्किल्स इसमें काम आते हैं और उनमें निरंतर निखार भी आता रहता है।हर व्यक्ति जो इवेंट मैनेजमेंट से जुड़ना चाहता है को यह पता होना चाहिए कि-उसमें कौन-कौन से स्किल्स हैं,जिनकी जरूरत इस काम में पड़ती है और जिनके बिना इस काम में आना गैर समझदारी का निर्णय हो सकता है।पहले तो इवेंट के फील्ड में एंट्री के लिए किसी खास योग्यता या पढ़ाई की दरकार नहीं थी परंतु अब पढ़ाई का रास्ता भी खुल गया है।आपने अगर 12वीं पास कर लिया है तो आप इसमें डिग्री,डिप्लोमा कर सकते हैं।

कोर्स-

इसके प्रमुख कोर्स हैं- डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट,पीजी डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट,एडवांस्ड डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट,पीजी डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट एंड पीआर,पीजी डिप्लोमा इन इवेंट मैनेजमेंट एंड एक्टिवेशन आदि हैं।इन पाठ्यक्रमों के तहत आप क्लाइंट सर्विसिंग एंड प्रेजेंटेशन स्किल्स,सेट डिजाइन,इवेंट प्लानिंग एंड कास्टिंग,इवेंट ब्रांडिंग, प्रोडक्शन एंव तकनीक,सेलेब्रिटी और आर्टिस्ट मैनेजमेंट,मीडिया मैनेजमेंट, पब्लिक रिलेशन एवं मार्केटिंग,जैसे विषय पढ़कर इस फील्ड में महारथ हासिल कर सकते हैं।

संभावनाएं-

जितनी जल्दी आप इवेंट के काम को समझ जाएंगे उतनी जल्दी आप इसमें कामयाबी हासिल कर लेंगे।इसमें सबसे महत्वपूर्ण होता है क्लाइंट को संतुष्ट करना।अगर आपने यह कर लिया तो वारे-न्यारे।आप एग्जीक्यूटिव से करियर शुरू कर मैनेजर तक बन सकते हैं।इवेंट मैनेजमेंट कंपनियां,काॅरपोरेट हाउस,मीडिया हाउस व प्रोडक्शन में तो आपकी डिमांड होगी ही आप खुद की इवेंट मैनेजमेंट कंपनी भी खोल सकते हैं। यानि स्वरोजगार की दृष्टि से भी इसमें करियर बनाना बेहतर है।

वेतन-

यूं तो बिना डिग्रीधारी भी इसमें हजारों कमाते हैं।लेकिन अगर आप डिग्री या डिप्लोमाधारी हैं तो तरक्की के अवसर ज्यादा हैं।शुरुआत में भले ही आपको बतौर वेतन 10 से 15 हजार रुपए तक ही मिले लेकिन लगन, मेहनत और कौशल की बदौलत आपकी सैलरी लाखों में हो सकती है।

नफा-नुकसान –

इवेंट मैनेजमेंट से जुड़ने का सबसे पहला और अहम लाभ यह है कि-यह आज के दौर का करियर है युवाओं के लिए इसे समझना कोई मुश्किल काम नहीं है।शायद ही कोई दौर ऐसा आए जिसमें लोग आयोजनों और समारोहों से तौबा कर लें।इसमें हमेशा व्यस्त रहने की गुंजाइश है लेकिन संभव है कि यह आपकी सेहत पर खराब असर डाले, क्योंकि आयोजनों की सफलता के लिए इसमें न तो समय देखने की फुर्सत रहती है और न ही आराम करने की।मानसिक दवाब हमेशा बना रहता है जिससे पार पा गए तो छा गए।नहीं तो अगला काम मिलने में मुश्किल आ सकती है।

Summary
0 %
User Rating 3.2 ( 2 votes)
Load More Related Articles
Load More By MyNews36
Load More In शिक्षा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

KTU Raipur Result 2019:KTU का रिजल्ट हुआ जारी,ऐसे देखे रिजल्ट

कुछ कोर्सों के रिजल्ट आज शाम तक होंगे जारी रायपुर-कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्विविद्यालय …