कोंडागाँव/Mynews36 प्रतिनिधी- मध्याह्न भोजन योजना अंतर्गत वितरित सुखा राशन में व्याप्त अनियमिताओ की स्वतंत्र एजेंसी से जांच एवं जांच उपरान्त दोषियों पर कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए। पूर्व मंत्री भाजपा सरकार शुश्री लता उसेण्डी ने विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि भारत सरकार की मध्यान भोजन योजना एक महत्वाकांक्षी योजना है। जिसके अंतर्गत प्रथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय के छात्रों को दोपहर का भोजन निःषुल्क प्रदाय किया जाता है। इस योजना का उद्देश्य बच्चों शिक्षा के साथ शारीरिक और मानसिक विकास करना है। छतीसगढ़ के बस्तर संभाग में प्रत्येक विद्यालय हेतु महिला स्वसहायता समूह को सफल क्रियान्वय हेतु प्रदेश सरकार द्वारा जिम्मेदारियां प्रदान की गई है। योजना में महिला स्वसहायता समुह की सक्रीय भागीदारी योजना के विकेंद्रीकरण तथा स्त्री शक्ति को प्रबल बनाने है।

परन्तु कोंडागाँव विधानसभा एवं जिले का दौरा करने के दौरान विभिन्न स्वसहायता समुहो, शिक्षको, पालको तथा विभिन स्तर के जनप्रतिनिधियों से ज्ञात हुआ कि शिक्षा विभाग के अधिकारी के मौखिक निर्देश से सुखा राशन का वितरण कार्यालय के माध्यम से खरीदी किया गया जो उचित नही। शासन के निर्देश के अनुसार उक्त कार्य को सम्बंधित विद्यालय के महिला स्वस्यता समूह के माध्य्म से सम्पन कराया जाना था। इस प्रकार से योजना को अनियमिता पूर्ण मनमानी ढंग से लागु करने का कार्य कुछ अधिकारियों के द्वारा किया गया है। प्रथम दृष्टि में मामला संदेहास्पद प्रतीत हो रहा है अतः उक्त मामले की जांच शिक्षा विभाग को छोड़ अन्य किसी स्वतंत्रत एजेंसी से करा दोषी अधिकारियो पर कार्यवाही की मांग करती हूं। छात्र हित, जनहित एवं महिलाओं के हित में तुरन्त जांच कराने की मांग करती हूं।

Mynews36 प्रतिनिधी राजीव गुप्ता की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *