sama al masri

मिस्र की एक बेली डांसर को अश्लीलत फैलाने के आरोप में तीन साल की जेल और करीब 14 लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई गई है। अदालत ने समा-एल मासरी को इंस्टाग्राम और टिकटॉक के जरिए अनैतिक आचरण के मामले में दोषी पाया है। समा की फोटोज और वीडियोज को उत्तेजक और अनैतिक माना गया है। समा का टिकटॉक अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया है हालांकि तीन मिलियन से ज्यादा फॉलोवर्स वाला इंस्टाग्राम अकाउंट अभी भी एक्टिव है।

समा ने खुद को बताया निर्दोष

दूसरी ओर 42 वर्षीय समा ने इन सभी आरोपों का खंडन किया है, उनका कहना है कि जिन फोटोज, वीडियोज के आधार पर उन्हें सजा सुनाई गई है वह उनके फोन से बिना इजाजत के ही सोशल मीडिया पर अकाउंट बनाकर पोस्ट कर दिया गया। इससे पहले मई में एक 17 साल की लड़की को टिकटॉक वीडियो पोस्ट करने के बाद गिरफ्तार किया गया था। उसके चेहरे पर चोट के निशान थे और यह कहा गया कि युवकों के एक समूह ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया है।
2018 में मिस्र सरकार लाई थी कानून

दरअसल, अब्देल फतह अल-सिसी द्वारा शासित मिस्र में बीते दिनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर लोकप्रिय कई युवतियों को अनैतिकता और समाज के पारिवारिक मूल्यों पर हमला करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। साल 2018 में मिस्र में एक साइबर क्राइम कानून बनाया गया था, जिसके बाद उसे सरकार इंटरनेट का पर सेंसरशिप लाने की आजादी मिल गई थी, इस कानून के तहत 2 साल की सजा और 14 लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है। कोर्ट के इस फैसले पर वहां के सांसद सदस्य जॉन तलत ने कहा कि स्वतंत्रता और व्याभिचारिकता के बीच बड़ा फर्क होता है, हमें इसे समझना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed