छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के एक निजी कॉलेज के महिला छात्रावास में दूषित पानी पीने से एक 19 वर्षीय छात्र की मौत हो गई और 55 अन्य बीमार बताई गई हैं। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने मंगलवार को कहा, यह मामला सोमवार को तब सामने आया, जब जिला स्वास्थ्य अधिकारियों को पता चला कि वेद महिला छात्रावास से बड़ी संख्या में छात्राओं को भिलाई के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

रस्तोगी कॉलेज में कौशल विकास प्रशिक्षण पाठ्यक्रम में शामिल कम से कम 55 महिलाओं को उल्टी और पेचिश की शिकायत के बाद 30 जुलाई को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। फिलहाल 51 छात्राओं का अस्पताल में इलाज चल रहा है। चार को छुट्टी दे दी गई।

बलोद जिले की रहने वाली एक छात्रा, कामिनी चुरेंद्र को उसके परिजन 29 जुलाई को छात्रावास से घर ले गए थे। वहां से उसे राजनंदगांव के अस्पताल में भर्ती कराया गया, रविवार को उसकी मौत हो गई। दुर्ग के जिलाधिकारी पुष्पेंद्र मीणा ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

हमारे व्हाट्सएप्प ग्रुप में जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You missed