छत्तीसगढ़ मौसम

आकाशीय बिजली गिरने से बच्ची सहित 3 की मौत, चार झुलसे, इस तरह करें बचाव….

Written by admin

छत्तीसगढ़ के बलरामपुर में गुरुवार दोपहर में मौसम ने करवट बदली और तीन बजे तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई। इस दौरान अलग-अलग स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने से 12 साल की लड़की सहित तीन लोगों की मौत हो गई। मृतकों में एक महिला और एक किशोरी भी शामिल हैं। जबकि दो महिलाओं सहित चार लोग झुलसे हैं। चारों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से दो की हालत गंभीर बताई जा रही है। हादसा वाड्रफनगर विकासखंड के ग्राम हरिगवां और कुंडी में हुआ है।

बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे खड़ी थीं तीनों

जानकारी के मुताबिक, हरिगवां गांव के स्कूलपारा में बारिश से बचने के लिए बरगद पेड़ के नीचे तीन लड़कियां बबली, अनीता और पांकुवर बैठी थीं। इनमें से अचानक बबली बारिश से बचने के लिए भागते हुए पास स्थित घर की ओर जा रही थी। तभी तेज आवाज के साथ बिजली चमकी और वहीं गिर पड़ी। इससे तीनों लड़कियां चपेट में आ गईं और वहीं बेहोश हो गईं। सूचना पर तीनों को 108 वाहन के जरिए वाड्रफनगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने अनिता (15) को मृत घोषित कर दिया।

यहां भी पेड़ पर ही गिरी गाज

वहीं दूसरी घटना में भी पेड़ पर आकाशीय बिजली गिरने से महिला की मौत हुई है। तीन महिलाएं निर्मला, सुरभि और केशकुमारी आकाशीय बिजली की चपेट में आए। तीनों बारिश के दौरान जामुन के नीचे खड़े थे। तभी बिजली पेड़ पर आ गिरी। इसके चलते केशकुमारी (35) की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं निर्मला और सुरभि गंभीर रूप से झुलस गए। दोनों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। दोनों घटनाओं में घायल चार लोगों में से दो की हालत गंभीर बताई जा रही है। फिलहाल सभी का उपचार जारी है।

डोरी बीनने गई बच्ची भी चपेट में आई

वहीं तीसरी घटना कुंडी गांव में हुई। यहां भी पेड़ के नीचे खड़ी बच्ची आकाशी बिजली की चपेट में आ गई। गांव की रहने वाली 12 वर्षीय पिंकी खैरबार पुत्री रामखेलावन खैरबार दोपहर करीब 3.30 बजे डोरी बीनने के लिए घर से निकली थी। तभी अचानक बारिश शुरू हो गई। इस पर बच्ची बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे जाकर खड़ी थी। इस दौरान पेड़ पर गाज गिरने से उसकी मौके पर मौत हो गई।

इस तरह से करें अपना बचाव
  • बिजली गिरने के तुरंत बाद घर से बाहर न निकलें। मौसम विभाग के जानकार बताते हैं कि जब तूफान गुजर जाता है, उसके 30 मिनट बाद तक बिजली गिरने से ही अधिकांश मौतें होती हैं।
  • अगर आप निश्चिंत हैं कि एक ही जगह पर दो बार बिजली नहीं गिर सकती है, तो आप गलत हैं। इसलिए इस बात का ध्यान रखें।
  • अगर आपके आसपास कहीं बादल गरज रहे हों और आपके रोंगटे खड़े हो रहे हैं तो यह इस बात का संकेत हो सकता है कि वहां बिजली गिर सकती है। ऐसी स्थिति में यह जरूरी है कि आप नीचे दुबक कर पैरों के बल बैठ जाएं, अपने हाथ घुटने पर और सिर को दोनों घुटनों के बीच रख लें। इससे आपका संपर्क जमीन से कम से कम होगा। ऐसे में आपको खतरा भी कम होगा।
  • अगर बारिश हो रही है और बिजली कड़क रही है, तो छतरी या मोबाइल फोन का इस्तेमाल न करें, क्योंकि धातु के जरिये बिजली आपके शरीर में प्रवेश कर सकती है।
  • अगर किसी व्यक्ति पर बिजली गिर जाए, तो उसके लिए जितनी जल्दी हो सके डॉक्टर की मदद मांगें। इस बात को याद रखें कि जिस व्यक्ति पर बिजली गिरी है, उसे छूने से आपको कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा।
  • अगर किसी व्यक्ति पर बिजली गिरी है, तो तुरंत उसकी नब्ज चेक करें और अगर प्राथमिक उपचार देना चाहते हैं तो दे सकते हैं।
  • मौसम विभाग के जानकार बताते हैं कि बिजली गिरने से शरीर में दो जगहों पर जलने की संभावना होती है। पहला, जहां से आकाशीय बिजली ने शरीर में प्रवेश किया और दूसरा, जिस जगह से उसका निकास हुआ, जैसे पैर के तलवे।
  • शरीर पर बिजली गिरने से व्यक्ति की हड्डियां टूट सकती हैं, उसे सुनाई या दिखाई देना बंद हो सकता है या जान भी जा सकती है। इसलिए सतर्क रहें।

About the author

admin

Leave a Comment