किसान कृषि छत्तीसगढ़ बड़ी खबर राजधानी शहर और राज्य समाचार

राज्य में धान विक्रय के लिए 21 लाख 47 हजार किसानों का हुआ पंजीयन

बीते वर्ष की तुलना में दो लाख 45 हजार नये किसानों ने कराया पंजीयन

रायपुर- मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की किसान हितैषी नीतियों के चलते राज्य में खेती-किसानी के प्रति कृषकों का रूझान बढ़ा है। राजीव गांधी किसान न्याय योजना ने खेती-किसानी को बढ़ावा देने के लिए संजीवनी का काम किया है। यही वजह है कि राज्य में अब पंजीकृत किसानों की संख्या 19 लाख से बढ़कर 21 लाख 47 हजार हो गई है। इस संख्या में 2 लाख 45 हजार नये किसान शामिल है, जिन्होंने इस वर्ष धान बेचने के लिए पंजीयन कराया है।

खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने कहा है कि किसान सहजता से अपने गांव के नजदीक के केन्द्रों में धान का विक्रय कर सकें। इसके लिए राज्य शासन द्वारा 103 नये धान खरीदी केन्द्र खोलने की स्वीकृति दी गई है। उन्होंने बताया कि इन नवीन धान खरीदी केन्द्रों के खुलने से किसानों को सहूलियत होगी और उन्हें अपनी उपज बेचने के लिए ज्यादा दूर नहीं जाना होगा। नवीन धान खरीदी केन्द्रों में 1 दिसंबर से धान खरीदी शुरू किए जाने की तैयारियां की जा रही है।

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा मंत्रालय से नवीन धान उपार्जन केन्द्र खोलने की अनुमति के लिए जारी आदेश के अनुसार राज्य के रायपुर जिले के ग्राम निलजा, पारागांव और ग्राम देवरी-परसकोल में नवीन धान खरीदी केन्द्र खोलने की स्वीकृति दी गई है। इसी प्रकार राजनांदगांव जिले के ग्राम कररेगांव, कोडेकसा, गातापार, रंगकतेरा, चारभाठा और भोजटोला। दुर्ग जिले के ग्राम कचांदुर एवं नंदिनीखुदनी। सरगुजा जिले के ग्राम पहुपुटरा, रामपुर, पटेवा और खडगवां। कोरबा जिले के ग्राम सुमेधा, दादरखुर्द, लबेद, नोंदीरा, निरधी, करईनारा।

कोरिया जिले के ग्राम बड़ेकलुआ, तरगवां, कुवारपुर, रामगढ़, बंजी, कौड़ीमार्ग। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के ग्राम तेंदुमुड़ा, तरईगांव। सूरजपुर जिले के ग्राम रामानुजनगर, सिरसी। बलरामपुर-रामानुजगंज के ग्राम भौरमाल, भेण्डरी, परसा। जशपुर जिले के ग्राम आस्ता, जामझोर, गंजियाडीह, गोरीया। रायगढ़ जिले के ग्राम लिन्धरा, बीजकोट, पोड़ीछाल। बिलासपुर जिले के ग्राम टाणा, रानीगांव, जुनवानी, कौवाटाल। जांजगीर-चांपा जिले के ग्राम जमगहन, सल्ली, कोनारगढ़, अमलिपाली, भड़ेसर, जमड़ी, रोकदा। महासमुंद जिले के ग्राम पंचायत टेमरी, बढ़गांव, बम्हनी, सिरको, घोंचापाली, बढ़गांव, किशनपुर। गरियाबंद जिले के ग्राम श्यामनगर, गुजरा, खोकसरा।

बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के ग्राम पचरि, बल्दाकछार, सलौनी, कोनी, केसला। बालोद जिले के ग्राम दरबारी, नावागांव (परसोदा डोगरापारा), कांकेर जिले के ग्राम प्रतापपुर, कांटागांव, ठेमा। कोण्डागांव जिले के ग्राम कोनगुड, लुभा, गोलवण्ड। बस्तर जिले के ग्राम मधोता, हेरपुण्ड, कोलेंग। मुंगेली जिले के ग्राम केसली। धमतरी जिले के ग्राम कसावाही, भेण्ड्रा और धुरावड। बेमेतरा जिले के ग्राम नवागांवकला, ओडिया, भटगांव, आमदू, जांता। कवर्धा जिले के ग्राम धानीखुटा, पोठार, बासीनझोरी, पटुवा। सुकमा जिले के ग्राम एर्राबोर, केरलापाल, नेतानारा। सूरजपुर जिले के ग्राम रेवटी, चंदोरा, टुकुडांड। दंतेवाड़ा जिले ग्राम मेटापाल एवं बीजापुर जिले ग्राम ईलमिडी में नवीन धान खरीदी केन्द्र शुरू किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *