क्वारनटाइन सेंटर में 11 वर्षीय बालिका ने तोड़ा दम, समय पर नहीं मिला ईलाज

बागबाहरा/महासमुंद- सुखडबरी गांव में बुधवार की सुबह श्रमिक परिवार के 11 वर्षीय बालिका की क्वारटाइन सेंटर में संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई है। बताया जा रहा है उक्त परिवार कुछ दिन पहले ही उत्तप्रदेश के सुल्तानपुर जिले से अपने घर वापस लौटा है। जो गांव में बने क्वांरटाइन सेंटर में था। जिनका एक दिन बाद छुट्‌टी मिलना था। लेकिन इसी बीच ममता विश्वकर्मा पिता अशोक विश्वकर्मा की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई है।

सूचना के बाद सामुदायिक केंद्र तक बालिका की शव को भेजा गया है। सुखरीडबरी के पूर्व पंच सुरेन्द्र ठाकुर ने बताया मंगलवार की शाम बच्ची की तबीयत खराब होने जैसे सूचना नहीं थी। उनके माता-पिता किसी तरह के बीमारी के बारे में किसी को कुछ नहीं बताया, हालांकि अब युरीन में प्राब्लम होना बताया जा रहा है। अस्पताल प्रबंधन के अनुसार बच्ची के शव को सामुदायिक केंद्र लाया गया है। बच्ची के पुराने रिपार्ट एक्सरा के आधार पर जो स्थिति अभी तक दिखी है उसके अनुसार किडनी में प्राब्लम होना बताया जा रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.