गणतंत्र दिवस परेड में राजपथ पर राष्ट्र की सैन्य शक्ति,सांस्कृतिक विविधता,सामाजिक और आर्थिक प्रगति का प्रदर्शन

गणतंत्र दिवस समारोह में देश की सैन्य शक्ति, सांस्कृतिक विविधता तथा सामाजिक और आर्थिक प्रगति का भव्य प्रदर्शन किया गया। समारोह में 32 झांकियां प्रदर्शित की गई जिनमें से 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की, नौ विभिन्न मंत्रालयों और विभागों तथा अर्धसैनिक बलों की और 6 रक्षामंत्रालय की थीं।

इन झांकियों में कार्बन न्यूट्रल लद्धाख की परिकल्पना को प्रदर्शित करने वाली झांकी के साथ-साथ गुजरात में मोढेरा के सूर्य मंदिर, असम के चाय बगानों से जुड़ी जनजातियों और छत्तीसगढ़ के लोकसंगीत की मधुर ध्वनियों वाली झांकियां शामिल थीं।

इसके अलावा डिजिटल भारत, चार श्रम कानूनों, आत्मनिर्भर भारत अभियान, न्यू इंडिया-वोकल फॉर लोकल और सीआरपीएफ तथा बीआरओ की झांकियां भी इस परेड में शामिल थीं।

स्कूलों के बच्चों ने ओडिसा का बजसाल नृत्य, तमिलनाडु का लोकनृत्य और हम फिट तो इंडिया फिट तथा आत्मनिर्भर भारत के विषयों पर नृत्य प्रस्तुत किए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.